Karwa Chauth 2022: करवा चौथ की पूजा व व्रत

 Karwa Chauth 2022: करवा चौथ की पूजा,सामग्री की पूरी लिस्ट,
करवा चौथ पर मेहंदी के खूबसूरत और यूनिक डिजाइन

                   

Karwa Chauth 2022: करवा चौथ की पूजा,सामग्री की पूरी लिस्ट,

Karwa Chauth 2022: पंचांग के अनुसार, कार्तिक मास के कृष्ण

पक्ष की चतुर्थी तिथि को करवा चौथ का व्रत रखा जाता है क्योकि महिलाये 

 सुखी वैवाहिक जीवन, पति की दीर्धायु और सौभाग्य के लिए विवाहित 

महिलाएं इस दिन निर्जला व्रत रखती हैंऔर इस व्रत का पूरे नियम से पालन

 करते हुए विधि विधान के साथ पूजा-अर्चना करती हैं और महिलाये करवा चौथ 

पर हाथ-पैर की मेहंदी बी लगाती हे ये व्रत महिलाएं अपने पति की लंबी आयु और

खुशहाल जीवन की कामना से रखती हैं। करवा चौथ पर्व की तैयारी कुछदिन पहले से ही शुरू हो जाती है

                

Karwa Chauth 2022

पूजा का शुभ समय


करवा चौथ का व्रत 13 अक्टबर 2022 को शुभ समय रखा गया हे  2022 की शाम

 6:01 से रात 7:15 तक रहेगा. चंद्रोदय का समय रात में 8:19 रहेगा.      

13 अक्टूबर की रात 1 बजकर 59 मिनट पर।

यह 14 अक्टूबर को रात 3 बजकर 08 मिनट तक रहेगी।

 शाम 6 बजकर 17 मिनट से 7 बजकर 31 मिनट तक

अवधि 1 घंटा 13 मिनट

करवा चौथ का व्रत सुबह 6 बजकर 32 मिनट से रात 8 बजकर 48 मिनट तक

करवा चौथ को चंद्रोदय :- रात 8 बजकर 48 मिनट पर हे करवा चौथ का व्रत

का सम्पूर्ण ये हे सुहागिन स्त्रियों के लिए यह व्रत बहुत अधिक महत्व रखता है

करवा चौथ व्रत की पूजा सामग्री



करवा चौथ व्रत की पूजा सामग्री....


करवा चौथ व्रत की पूजा सामग्री का बहुत महत्व होता हे जो धार्मिक

 मान्यताओं के अनुसार करवा चौथ की पूजा पूरे विधि विधान से करना 

चाहिए. इस व्रत में पूजा सामग्री का विशेष महत्व है. पूजा के समय थाली 

में मिट्टी या तांबे का करवा और ढक्कन, पान, कलश, चंदन, फूल, हल्दी,

 चावल, मिठाई, कच्चा, दूध, दही, देसी घी, शहद, शक्कर का बूरा, रोली, कुमकुम, मौली ये सभी सामान होना जरूरी है.

online pese kamaye click now

1 टोटीवाला करवा और ढक्कन ..

 करवा चौथ का व्रत में करवा के बिना पूजा अधूरी मानी जाती है

2 करवा चौथ कथा की पुस्तक और तस्वीर..

करवा माता और गणेश जी की कथा पढ़ी जाती है. करवा माता की

 पूजा के लिए उनकी फोटो लें आएं नहीं तो इनके बिना पूजा अधूरी हे 

3 कलश..

सनातन धर्म में पूजा में कलश का होना अनिवार्य होता है हिन्दू धर्म में कलश 

का महत्व 33 करोड़ देवी-देवता का वाश माना जाता हे 

4 कांस की सींक ..

कांस की सींक को करवे की टोटी में डाला जाता है

5 करवा चौथ में 16 श्रृंगार का सामान..

कंघा, बिंदी, चुनरी, चूड़ी चूड़ी, साड़ी,  मेहंदी, महावर, सिंदूर

6 अंतिम और विशेसपूजा की थाली ..

शहद, शक्कर का बूरा, दीपक, अगरबत्ती, कपूर, गेहूं,लकड़ी का 

आसन, छलनी, दक्षिणा के पैसे, हलुआ, आठ पूरियों की अठावरी पान, फूल, 

चंदन, मौली, अक्षत,  हल्दी, चावल, मिठाई, रोली

Karwa Chauth 2022  करवा चौथ का व्रत 13 अक्टबर 2022


करवा चौथ पूजा का शुभ मुहूर्त जो इस प्रकार हे ..


Karwa Chauth 2022  करवा चौथ का व्रत 13 अक्टबर 2022 को रखा जाएगा

 करवा चौथ व्रत में महादेव, माता पार्वती, गौरी पुत्र गणेश और चंद्रमा की पूजा पूरे

 विधि विधान से की जाती हे हिंदू (भारत के ) धर्म में करवा चौथ का व्रत एक विशेष

 स्थान रखता है इसलिए यह व्रत 2022 में कार्तिक मास की चतुर्थी तिथि 13 अक्टूबर

 2022 की मध्य रात्रि 1:59 से शुरू होगी और 14 अक्टूबर 2022 की तड़के सुबह 

3:08 पर समाप्त होगी शाम 6 बजकर 17 मिनट से 7 बजकर 31 मिनट तक

अवधि 1 घंटा 13 मिनट करवा चौथ पूजा का शुभ मुहूर्त रहेगा 




करवा चौथ में नवविवाहित महिलाएं व्रत रख सकती हे या नहीं..


यह व्रत कुंवारी लड़कियां भी अच्छे पति की कामना करते हुए रख सकती हैं

और यह व्रत कुमारी लडकियों के लिए माना जाता हे क्योंकि शुक्र के अस्त

 होने से व्रत न करने की बात निराधार हैइस साल से करवा चौथ व्रत का 

शुरुआत करने वाली है वह भी इस साल से ही व्रत का आरंभ कर सकती हैं

इस कारण से कुमारी लडकिया व्रत रख सकती हे 



करवा चौथ के दिन मेहंदी के खूबसूरत और यूनिक डिजाइन जो आपको यहाँ 
देखने को मिल्ल्गे ..

करवा चौथ के दिन मेहंदी के खूबसूरत और यूनिक डिजाइन जो आपको यहाँ  देखने को मिल्ल्गे ..


करवा चौथ के दिन सुहागिन महिलाएं अपनी पति की लंबी उम्र की कामना करती हैं. 

उनके लिए व्रत रखती हैं. ये व्रत कठिन भी होता हैकरवाचौथ से एक रात पहले व्रत

 रखने वाली सभी सुहागिन महिलाएं अपने पति के नाम की मेहंदी लगवाती हैं और इस मेहंदी

में विशेष महत्व अपने पति को दिया जाता हे  मेहंदी का डिजाइन (Mehndi Design) जितना

 खूबसूरत हो उतने ही सुंदर हाथ नजर आते हैं और मेहंदी सोलह श्रृंगार में से सबसे महत्वपूर्ण

 श्रृंगार में से एक मानी जाती है इसलिए महंदी का इतना विशेष हे  हर महिला इस दिन यूनिक

 और खूबसूरत मेहंदी से अपने हाथ-पैरों को रंगना चाहती है

करवा चौथ के दिन मेहंदी


Karwa Chauth 2022 : करवा चौथ कल या परसों..


इस बार करवा चौथ 13 अक्टूबर को रखा जा.एगा. उदया तिथि 13 अक्टूबर को ही पड़ रही है 

इसलिए करवा चौथ का व्रत गुरुवार को ही रखा जाएकरवा चौथ व्रत की पूजा का शुभ समय 13 

अक्टूबर 2022 की शाम 6:01 से रात 7:15 तक रहेगा. चंद्रोदय का समय रात में 8:19 रहेगा.


 Karwa_Chauth_2022_करवा_चौथ_की_पूजा

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ